Talk to your heart. Keep your heart calm. संभालो दिल को, तन्हा दिल, तन्हाई

दिल मेरे आज तुझसे है कहना

Talk to your heart. Keep your heart calm. संभालो दिल को, तन्हा दिल, तन्हाई

This is my poem that  I turned into a song about loneliness.

Link – at the end of the poem.

दिल मेरे आज, तुझसे है कहना,

सीखो तुम यार तन्हा भी रहना ||

***

कोई नहीं तो क्या, माँ बाप का है प्यार – 2times

उनके तुम यार, बनके रहना…

दिल मेरे आज….

***

तूने कहा था यार, कोई तो आएगी,

सारी दुनिया में यार, मुझको ही पायेगी ||

किया इन्तजार, अब नही करना…

दिल मेरे आज….

***

माँगा ख़ुदा से जो अब तक मिला नहीं,

किया जो भी उसने, उसका गिला नहीं |

ऐसा ख़ुदा भी क्या रूठे तुम रहना…

दिल मेरे आज….

***

जिसका मैं बन गया था, वो न मेरा बन सका,

सोचा जिसे खुशनुमा पल, था वो कोई हादसा

छोड़, मेरी मुश्किलों से मुझको ही लड़ना…

दिल मेरे आज….

Click here for video

Leave a comment

Your email address will not be published.

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)