Breakup vibes, Relationship, Revenge

हम दिल को तेरे छोड़ चले

Breakup vibes, Relationship, Revenge

हम दिल को तेरे छोड़ चले


तू गैर से नाता जोड़ भले,

हम दिल को तेरे छोड़ चले |

तेरी भीड़ भरी तन्हाई से बच,

शर्म का दामन ओढ़ चले ||

*

दिल खुशियों में तेरा फूले फले,

मेरे दिल में भरे तू शोक भले |

मैं खुद को फनाह करना चाहुँ

तेरे अरमानों की चौंध तले ||

*

थे मित्रों से मेरे बैर पले,

लगे अपनों से मुझे गैर भले |

मैं खुद में ही महफूज़ नहीं,

मेरे दिल में तेरी आंच जले ||

*

आये याद तेरी हर शाम ढले,

पर मेरी कमी तुझको न खले |

मैं बनके चिता जलता ही रहा,

उठती लपटों की आग तले ||

*

खारे रिश्तों में मिठास खले,

सब लेके अपनी चाल चले |

तू दिल पे मेरा बोझ न रख,

हम दिल को तेरे छोड़ चले ||

Leave a comment

Your email address will not be published.

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)